It is recommended that you update your browser to the latest browser to view this page.

Please update to continue or install another browser.

Update Google Chrome

लैंड्स लिटिगेशन एंड एनवायरनमेंट लॉ को लेकर पैनल डिस्कशन का आयोजन
By Lokjeewan Daily - 29-07-2021

जयपुर । राजस्थान में भारतीय वन-अधिनियम 1927, राजस्थान वन अधिनियम 1953 होने के बावजूद सैकंडो एकड़ वन भूमि रेवेन्यू रिकॉर्ड, सीमाज्ञान एवं मुकदमेबाजी समेत विभिन्न कारणों से वानिकी उपयोग में नही ली जा रही है, जिसके कारण पर्यावरण को अपूरणीय क्षति पहुँची है। जिसका सीधा प्रभाव मानवजाति, पशु तथा जीव जंतु पर पड़ता है। ऐसी अपूरणीय क्षति कारित करने वाले कारणों और उनके समाधान के संभावित उपाय के लिए मैं भारत फाउंडेशन, वन विभाग और एनजेआरएस लॉ ऑफिसेज की ओर से खंडार रणथंभौर नेशनल पार्क में “लैंड्स लिटिगेशन एंड एनवायरनमेंट लॉस“ पैनल डिस्कशन का आयोजन किया गया। समारोह की मुख्य अतिथि प्रिंसिपल, चीफ कंजरवेटर ऑफ फॉरेस्ट राजस्थान जयपुर श्रुति शर्मा रही।

कार्यक्रम में श्रुति शर्मा ने अपने कार्य काल के दौरान अतिक्रमन हटाने की कार्यवही के अनुभव साझा किए। उन्होंने बताया कि एनजेआरएस लॉ ऑफिसेज के अतिक्रमन संबंधी प्रयास वन विभाग के लिए मददगार साबित होंगे। वन विभाग के कर्मचारियो एवम अधिकारियों को अपने विचार फॉउंडेशन के साथ साझा करने चाहिए जिससे अच्छी नीति का निर्माण हो सके और वन एवं पर्यावरण का संरक्षण हो सके।

अन्य सम्बंधित खबरे