It is recommended that you update your browser to the latest browser to view this page.

Please update to continue or install another browser.

Update Google Chrome

ब्रेकिंग न्यूज़

डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के लिए आज का दिन बहुत भारी हो सकता है। पंचकूला की विशेष अदालत आज रंजीत सिंह हत्‍याकांड में सजा सुनाएगी। सजा को लेकर बहस अदालत में शुरू हो गई है।भाजपा प्रदेश मुख्यालय में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया समेत अन्य पदाधिकारियों ने गहलोत सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर जारी किया ।लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा आज यानी सोमवार को देशभर में ‘रेल रोको’ आंदोलन करेगा. इस दौरान सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर बाद 4 बजे के बीच सभी मार्गों पर रेल यातायात रोकी जाएगी.

भारत ने की तालिबान से आतंकवादियों को पनाह न देने की प्रतिबद्धता बनाए रखने की मांग
By Lokjeewan Daily - 10-09-2021

अफगानिस्तान के लिए आतंकवाद के लगातार खतरे की चेतावनी देते हुए भारत ने तालिबान से मांग की है कि वह देश को आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल नहीं करने देने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम रहे।
काबुल हवाईअड्डे पर पिछले महीने के निराशाजनक हमले का हवाला देते हुए, जिसमें 13 अमेरिकी सैनिक और 170 से अधिक अफगान मारे गए, भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी.एस. तिरुमूर्ति ने गुरुवार को कहा कि आतंकवाद अफगानिस्तान के लिए एक गंभीर खतरा बना हुआ है।
उन्होंने कहा कि पिछले महीने जब भारत ने परिषद की अध्यक्षता की थी, तब पारित प्रस्ताव में संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित आतंकवादियों और आतंकवादी समूहों सहित आतंकवाद के लिए अफगान धरती के उपयोग की अनुमति नहीं देने की तालिबान की प्रतिबद्धता पर ध्यान दिया गया था।
अफगानिस्तान पर परिषद की बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि प्रस्ताव में आतंकवाद पर सामूहिक चिंताओं को ध्यान में रखा गया और इस बात को रेखांकित किया था कि अफगान क्षेत्र का उपयोग किसी भी देश को धमकाने या हमला करने या आतंकवादियों को शरण देने या प्रशिक्षित करने, या आतंकवादी कृत्यों की योजना बनाने या वित्तपोषित करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।
इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि इस संबंध में (तालिबान द्वारा) की गई प्रतिबद्धताओं का सम्मान किया जाए और उनका पालन किया जाए।
तिरुमूर्ति ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि तालिबान भी अफगानों को विदेश यात्रा करने की अनुमति देने और उनके और सभी विदेशी नागरिकों के लिए सुरक्षित प्रस्थान सुनिश्चित करने की अपनी प्रतिबद्धता का सम्मान करेगा।
अफगानिस्तान के लिए महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के विशेष प्रतिनिधि, डेबोरा लियोन ने तालिबान के नेतृत्व के संयुक्त राष्ट्र की आतंकवादियों की सूची में होने का मुद्दा उठाया।
उन्होंने कहा कि तालिबान द्वारा घोषित अंतरिम सरकार के 33 सदस्यों में से कई संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध सूची में हैं, जिनमें प्रधान मंत्री मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद, दो उप प्रधान मंत्री और विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी शामिल हैं।

अन्य सम्बंधित खबरे