It is recommended that you update your browser to the latest browser to view this page.

Please update to continue or install another browser.

Update Google Chrome

ब्रेकिंग न्यूज़

डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के लिए आज का दिन बहुत भारी हो सकता है। पंचकूला की विशेष अदालत आज रंजीत सिंह हत्‍याकांड में सजा सुनाएगी। सजा को लेकर बहस अदालत में शुरू हो गई है।भाजपा प्रदेश मुख्यालय में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया समेत अन्य पदाधिकारियों ने गहलोत सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर जारी किया ।लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा आज यानी सोमवार को देशभर में ‘रेल रोको’ आंदोलन करेगा. इस दौरान सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर बाद 4 बजे के बीच सभी मार्गों पर रेल यातायात रोकी जाएगी.

अमेरिका अफगानिस्तान के पूरे घटनाक्रम के बाद पाकिस्तान के खिलाफ उठा सकता है बड़ा कदम
By Lokjeewan Daily - 15-09-2021

आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान काअफगानिस्तान को लेकर भी उसका डबल गेम दुनिया के सामने आ गया है। पाकिस्तान की इस दोहरी नीति को अमेरिका ने बेनकाब किया है।  बाइडेन प्रशासन की ओर से इसके संकेत भी दे दिए गए हैं।अमेरिका अब अफगानिस्तान के पूरे घटनाक्रम के बाद पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा कदम उठा सकता है। अमेरिका ने पाकिस्तान के साथ रिश्तों की नए सिरे से समीक्षा करने का फैसला कर सकता है। विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन ने अमेरिकी सांसदों से कहा है कि अमेरिका यह देखेगा कि बीते बीस वर्षों में पाकिस्तान की भूमिका क्या रही है। जिन कारणों का आपने और अन्य लोगों का हवाला दिया है, यह उन चीजों में से एक है जिसे हम आने वाले दिनों और हफ्तों में देखेंगे, पाकिस्तान ने पिछले 20 वर्षों में जो भूमिका निभाई है और आने वाले वर्षों में जिस भूमिका में हम उसे देखना चाहते हैं।

सांसदों ने9/11 हमले के बाद अफगानिस्तान में पाकिस्तान की ‘दोहरी नीति’ वाली भूमिका पर नाराजगी जताई और मांग की कि वाशिंगटन इस्लामाबाद से रिश्तों पर पुन: विचार करे। अमेरिकी सांसदों ने बाइडन प्रशासन से अनुरोध किया कि वह पाकिस्तान के मुख्य गैर नाटो सहयोगी के दर्जे के बारे पर भी फिर से विचार करे। कांग्रेस सदस्य बिल कीटिंग ने कहा कि इस्लामबाद ने दशकों से अफगानिस्तान से संबंधित मामलों में नकारात्मक भूमिका निभाई है। आईएसआई के हक्कानी नेटवर्क से मजबूत संबंध है, पाकिस्तान ने 2010 में तालिबान को समूह पुन: गठित करने में मदद की और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने काबुल पर तालिबान के कब्जे का जश्न मनाया था।

अन्य सम्बंधित खबरे