It is recommended that you update your browser to the latest browser to view this page.

Please update to continue or install another browser.

Update Google Chrome

ब्रेकिंग न्यूज़

डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के लिए आज का दिन बहुत भारी हो सकता है। पंचकूला की विशेष अदालत आज रंजीत सिंह हत्‍याकांड में सजा सुनाएगी। सजा को लेकर बहस अदालत में शुरू हो गई है।भाजपा प्रदेश मुख्यालय में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया समेत अन्य पदाधिकारियों ने गहलोत सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर जारी किया ।लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा आज यानी सोमवार को देशभर में ‘रेल रोको’ आंदोलन करेगा. इस दौरान सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर बाद 4 बजे के बीच सभी मार्गों पर रेल यातायात रोकी जाएगी.

पाकिस्तान में सीपीईसी प्रोजेक्ट की धीमी रफ्तार ने चीनी कंपनियों को कर दिया निराश
By Lokjeewan Daily - 17-09-2021

चीन का मकसद बेल्ट एंड रोड परियोजना के जरिये पूरी दुनिया को चीन से जोड़ने का है। इसके लिए वो कई देशों में भारी मात्रा में निवेश कर रहा है। सीपीईसी प्रोजेक्ट के तहत चीन सड़क, रेलवे और ऊर्जा पाइपलाइन बिछाने के लिए पाकिस्तान को बड़े पैमाने पर लोन दे रहा है। इस परियोजना को साल 2049 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। लेकिन पाकिस्तान में सीपीईसी प्रोजेक्ट की धीमी रफ्तार ने चीनी कंपनियों को निराश कर दिया है। पाकिस्तान के सीनेट पैनल की ओर से भी इस प्रोजक्ट के तीन सालों में जीरो प्रगति को लेकर अपनी चिंता जाहिर की। चीनी सीपीईसी पर काम की मंद रफ्तार से सीनेट की स्थाई समिति के अध्यक्ष भी असंतुष्ट हैं। वहीं इसको लेकर चीन की ओर से लगातार नाराजगी जाहिर की जा रही है। चीन के राजदूत की तरफ से भी शिकायती लहजे में कहा गया है कि सीपीईसी को बर्बाद कर दिया है और तीन वर्षों में इस पर कोई काम नहीं हुआ है। 

 इससे पहले भी चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने पाकिस्तान के अपने समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के साथ फोन पर हुई बातचीत में सीपीईसी परियोजना के बारे में चर्चा की थी। वांग ने पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिये सीपीईसी की परियोजनाओं को तेज करने की जरूरत पर बल दिया था। सीपीईसी पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर से होकर गुजरता है। इस कारण भारत शुरुआत से ही इस परियोजना का विरोध करता आया है। 

अन्य सम्बंधित खबरे